कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान

कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान

कामधेनु डेयरी योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक जानकारी आपको govtme.com ब्लॉग पर मिल जाएगी ।

दोस्तों चलो जानते हैं !

  • राजस्थान की कामधेनु योजना के बारे में क्या है ?
  • योजना किस प्रकार इसके लिए आवेदन कर सकते हैं ?
  • क्या यह एक पशु पालन करता के लिए सुविधा है ?
  • किस प्रकार इसका लाभ एक पशुपालन कार्य करने वाला व्यक्ति ले सकता है ?

किस प्रकार इस योजना का आधार है क्या-क्या आवश्यक जानकारी आपको मिल जाएगी।

राजस्थान राज्य के उन सभी लोगों के लिए यह योजना एक सुनारी योजनाएं जो लंबे समय से पशुपालन का कार्य कर रहे हैं या पशुपालन कार्य में अपना रोजगार का निर्माण कर रहे हैं उनके लिए सरकार द्वारा इसमें कामधेनु डेयरी योजना एक महत्वपूर्ण योजना है।

कामधेनु डेयरी योजना का मुख्य उद्देश्य

सरकार राज्य में देसी गायों को हाईटेक डेयरी फार्म को निरंतर आगे बढ़ावा देने के लिए कामधेनु डेयरी योजना की शुरुआत की है जिसमें देसी गाय की हाईटेक डेयरी फार्म को बढ़ावा दिया जाएगा तथा यह योजना प्रदेश के पशुपालन विभाग द्वारा की जाएगी।

कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान का मुख्य लक्ष्य

  • पशु पालन कर रहे हैं लोगों को देसी गाय की हाईटेक डेयरी फार्म को किस प्रकार डिवेलप करना है ।
  •  राज्य एक क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़ा राज्य है जिसमें रोजगार को उत्पन्न करने के लिए राज्य सरकार नए नए अवसर उत्पन्न कर रही है |
  • उसमें कामधेनु योजना भी एक राज्य सरकार की पशुपालन कर्ताओं के लिए पहल है जिसमें सभी राज्यों से लोग स्वयं के राज्य में लौट रहे हैं तथा उन को रोजगार के अवसर उत्पन्न होने में समस्या हो रही है |
  • उनको ध्यान में रखकर कामधेनु योजना का शुभारंभ किया गया जिससे उन्हें राज्य से फिर से पलायन न करना पड़े तथा वहां रहकर रोजगार प्राप्त कर सके पशु पालन करने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति पर भी कोई प्रभाव न पड़े तथा देश के विकास में अपना योगदान दे सकें।

कामधेनु डेयरी योजना का फायदा

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का सबसे बड़ा फायदा यह है इसमें केवल पशुपालक को अपनी जेब से 10% वैसा ही पशुपालन कार्य के लिए निवेश करना होगा बाकी का बचा हुआ पैसा सरकार अपनी ओर से बैंक की तरफ से कर्ज के तौर पर दिया जाएगा |

जिसका उपयोग कर वह पशुपालन का कर सकता है राज्य के जो भी निवासी कामधेनु डेयरी योजना का लाभ उठाना चाहते हैं वह इसमें आवेदन कर सकते हैं आवेदन केवल 30 जून तक ही स्वीकार किए जाएंगे |

लिहाजा यदि आप इस योजना से जुड़े किसी भी तरह की अधिक जानकारी चाहते हैं तो आप आवेदन करना चाहे या उससे जुड़ी शर्तों को जाना चाहे यहां आपको हमारे इस ब्लॉग में govtme में मिल जाएगा।

इस योजना का उन सभी को फायदा मिलेगा जो पशुपालन कार्य किया हो।

कामधेनु योजना के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार होने का अवसर मिलेगा।

अधिक संख्या में रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे।इस योजना का लाभ प्रदेश की प्रत्येक महिलाएं युवा , वृद्ध व्यक्ति भी उठा सकता है।

लाभ उठाने के लिए आवेदक को केवल 10% ही पैसा निवेश करना होगा अन्य पैसा राज्य सरकार द्वारा निवेश किया जाएगा।

लोन के तौर पर दी गई रकम पर समय पर चुकाने वाले व्यक्ति को 30% की सब्सिडी दिए जाने का राज्य सरकार ने वादा किया है।

पशुपालकों की तरह ही इन्हें एक विशेष प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि डेरी में किस प्रकार का मुनाफा अधिक कमा सकें।

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना क्या है ?

आप राजस्थान के निवासी हैं तथा गोपालन के जरिए रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं तो यह योजना आपके काम की है इस योजना से संपूर्ण जानकारी आपको मिल जाएगी आवेदन करने से पहले एक बार इसे जरूर पढ़ें।

सरकार द्वारा इस योजना का लाभ राज्य के पशु पालन करता ले सकते हैं

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का लाभ कौन कौन ले सकता है ?

  1. राजस्थान डेयरी योजना में वह लोग आवेदन कर सकता है जो राजस्थान का निवासी हूं तथा पशुपालन का कार्य करते हैं या कर चुके हैं।
  2.  कामधेनु डेयरी योजना में कुल लागत 36 पॉइंट 68 लाख रुपए हैं जिसमें आवेदन को केवल 10% में ही अपना डिसटीब्यूट करना होगा बचा हुआ 90% बैंक से लोन के जरिए सरकार द्वारा दिया जाएगा |
  3. यह लोन की रकम समय पर वापस करने पर आवेदक को 30% तक की सब्सिडी भी सरकार द्वारा दी जाएगी इस योजना में अधिक मात्रा में दूध देने वाली गाय की एक ही नस्ल की होगी।
  4.  डेयरी खोलने के लिए पर्याप्त मात्रा में धन भूमि कम से कम 1 एकड़ जमीन हरा चारा उत्पादन करने वाली जमीन होना आवश्यक है |

 राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना से जुड़े हुए हैं मुख्य नियम 

  1. आवेदक करने वाले पशुपालन के पास कम से कम 3 साल का अनुभव होना अनिवार्य है। आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए स्वयं की जमीन होनी चाहिए कम से कम 1 एकड़ होना जमीन आवश्यक है।
  2. आवेदक के पास गायों के लिए हरा चारा खिलाने के लिए 1 एकड़ जमीन होनी आवश्यक है। योजना में आवेदन करने वाला व्यक्ति कुल लागत का 10% स्वयं वाहन करने की योग्यता रखता हूं ।
  3. योजना का लाभ उठाने के लिए वह राजस्थान राज्य का निवासी हूं |
  4. अन्य राज्य के किसी भी व्यक्ति को इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। मेरी का संचालन स्थानीय निकाय के प्रतिबंधित क्षेत्र से बाहर किया जाएगा।

राजस्थान कामधेनु योजना में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज।

राजस्थान के निवासी होने का मूल प्रमाण पत्र।

आधार कार्ड |

मोबाइल नंबर |

बैंक खाता डायरी पशुपालन से संबंधित अन्य दस्तावेज |

मुख्यमंत्री राजश्री योजना राजस्थान

गोपालन अर्थात कामधेनु डेयरी योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया ।

  • आवेदन करने के लिए जो भी इस योजना से अपना जुड़ना चाहते हैं या फिर अपनी रोजगार को बढ़ाना चाहते हैं उन्हें इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  •    OFFICAL WEBSITE https://gopalan.rajasthan.gov.in/
  • स्थान कामधेनु डेयरी योजना का फार्म आपको वेबसाइट से डाउनलोड करना होगा |
  • डाउनलोड करके प्रिंट निकाल कर उसे भरना होगा करने के पश्चात आवश्यक दस्तावेजों को सेलेक्ट करना होगा संलग्न करने के पश्चात इसे आप को जमा करवाना होगा |
  • सही जानकारी सभी होने पर आवेदन को स्वीकार कर लिया जाएगा तथा आपको सूचित कर दिया जाएगा ।

1 thought on “कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान”

Leave a Comment