प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना 2020

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ( Garib Kalyan Yojana 2020 )

 

  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना 2020

     

  • योजना का नाम      प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

     

  • योजना घोषित की      26 मार्च 2020 (रविवार) केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा

     

  • लागू की          1 अप्रैल से

     

  • लाभार्थी वर्ग      देश का गरीब वर्ग

     

  • कुल बजट       1,70,000 करोड़ों रुपए

     

  • कब तक        नवंबर 2020 तक (अंतिम घोषणा के तहत)

     

 

कोरोना महामारी काल में केंद्र सरकार द्वारा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश के गरीब वर्ग के लिए एक नई योजना शुरू की है इस योजना का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना है कोरोना वायरस के बीच इस योजना का अधिक विस्तार किया गया है तथा इस योजना को एक विस्तृत रूप दिया गया है इसे प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना भी कहा जाता है।

 

 

जैसा कि हम सभी को विदित है कि देश में लॉकडाउन के चलते सबसे बड़ी चिंता का विषय गरीब वर्ग के लोगों को राशन पहुंचाने की थी हालाकी देश की जनता ने लॉकडाउन में घर में रहकर भी सरकार का पूरा सहयोग किया परंतु कई तरफ जरूरी सामान लेने के लिए लोग घर से बाहर निकलने को मजबूर थे।
देश के गरीब वर्ग जो कई विपत्तियों का सामना करके अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे उनके लिए यह समय अत्यंत भयावह रहा क्योंकि लोग दान के चलते जो थोड़ी बहुत आमदनी होती थी वह भी बंद हो चुकी थी ऐसे समय में यह पूरा वर्ग सरकार से की आस लगाए बैठा था।
जनता को इस बात की पूरी उम्मीद थी कि सरकार इस मुश्किल समय में भी इस पूरे वर्ग के लिए कोई बड़ी घोषणा अवश्य करेगी।

PM गरीब कल्याण योजना शुरू होने की तिथि

 26 मार्च 2020 रविवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू की गई तथा इससे संबंधित अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की गई।

गरीब कल्याण योजना क्या है?

 कोरोना की भयावह महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है इस दौर में जहां आम जनता उम्मीदें छोड़ कर बेबस है वही सरकारी जनता की मदद के लिए आगे आ रही है इसी प्रकार अन्य देशों की तरह भी भारत ने गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत गरीब कल्याण योजना शुरू की है जोकि पूरे विश्व के सामने एक बहुत अच्छा प्रेरणादायक व सराहनीय कदम है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का उद्देश्य

इस योजना का सबसे मुख्य उद्देश्य यह है कि देश के प्रत्येक गरीब परिवार तक सब्सिडी के साथ राशन उपलब्ध कराया जाए ताकि देश का कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे।

कोरोना से लड़ने के लिए गरीब कल्याण योजना 2020

26 मार्च 2020 को अपने भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि हम किसी को भी भूखा नहीं मरने देंगे और सरकार गरीब परिवारों का इस योजना के तहत विशेष रुप से ध्यान रखेगी उन्होंने यह भी कहा कि सरकार खाने पीने की चीजें तो उपलब्ध कराएगी ही साथ ही गरीबों को आर्थिक मदद करने से संबंधित योजनाएं भी सुनिश्चित करेगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से संबंधित प्रमुख बिंदु

  1. इस योजना के द्वारा डॉन और अन्य दोनों ही रूपों में देश के गरीब तबके की सहायता की जाएगी।

     

  2. जब इस योजना की घोषणा की गई तब इस योजना को 3 माह तक चलाने का तय किया गया था परंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी  द्वारा इसे और आगे बढ़ा कर नवंबर तक जारी रखना तय किया गया है।

     

  3. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत केंद्र सरकार ने 80 करोड़ परिवारों के लिए अन्य की व्यवस्था की है।

     

  4. जैसा कि हम सभी जानते हैं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए सरकार द्वारा पहले से ही 5 किलो गेहूं  या चावल मुहैया कराने की स्कीम चलाई जा रही है।

     

  5. इस स्कीम के अतिरिक्त 5 किलो गेहूं या चावल हर महीने नवंबर तक परिवार के प्रत्येक लाभार्थी को मुफ्त में उपलब्ध कराए जाएंगे और साथ ही 1 किलो दाल हर गरीब परिवार को उपलब्ध कराई जाएगी।

     

  6. गरीबों के जनधन खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के तहत धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।

     

26 मार्च 2020 रविवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में हुई कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं

  1. चिकित्सा के क्षेत्र से जुड़े कर्मचारी व अधिकारी गण जो कोरोना के खिलाफ अपनी जान की बाजी लगा रहे हैं उन्हें 5000000 का जीवन बीमा मुहैया कराया जाएगा।

     

  2. वित्त मंत्री ने किसान वर्ग, मनरेगा मजदूर वर्ग, गरीब विधवा, गरीब दिव्यांग वर्ग, व गरीब पेंशनधारक वर्ग, जन धन योजना उज्वला के लाभार्थी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं संगठित क्षेत्र के कर्मचारी और निर्माण के काम में लगे लोगों के लिए घोषणा की गई।

     

  3. बुजुर्गों दिव्यांगों तथा विधवाओं को दो किस्तों में 3 माह तक 1-1 हजार अतिरिक्त दिए जाएंगे इससे तीन करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।

     

  4. महिला जनधन खाताधारकों को 3 महीने तक 500 – 500 रुपए प्रति महीने दिए जाएंगे इस प्रकार लगभग 20 करोड़ महिलाओं को लाभ होगा।

     

  5. उज्जवला योजना के तहत जो लाभार्थी हैं उन्हें 3 महीने तक सिलेंडर मुफ्त उपलब्ध कराए जाएंगे इससे करीब 8 करोड़ लाभार्थियों को मुनाफा होगा।

     

योजना के तहत कुल  लाभार्थी

इस योजना के अंतर्गत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गरीब कल्याण योजना को लागू किया जिसके तहत देश के लगभग 80 करोड लोगों को लाभ मिलेगा जो कि  देश की कुल जनसंख्या का दो तिहाई हिस्सा है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • इस योजना के तहत गरीब वर्गों को राशन प्राप्त करते समय अपने साथ अपना राशन कार्ड ले जाना अनिवार्य होगा।

     

  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को अपनी पहचान के लिए अपने आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस या  पासपोर्ट आदि में से किसी भी एक दस्तावेज की आवश्यकता पड़ सकती है इसलिए इन सभी की फोटो कॉपी अपने साथ रखना आवश्यक है।

     

  •  इस योजना के अंतर्गत पेंशन धारकों को सहायता दी जा रही है इसलिए लाभार्थी को अपने आयु प्रमाण पत्र की भी आवश्यकता पड़ेगी।

     

  • इस योजना के तहत महिलाओं को अपने जनधन खाते में से पैसे निकालने के लिए अपने साथ जनधन खाते की पासबुक रखने की आवश्यकता होगी।

     

  • इस योजना में मनरेगा के मजदूरों की आय में वृद्धि की जाएगी इसका लाभ लेने वाले लाभार्थियों के पास उनका मनरेगा कार्ड होना अनिवार्य है।

     

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया

इस योजना में दिए जाने वाले सभी वित्तीय लाभ लाभार्थियों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के तहत सीधे उनके बैंक खातों में मुहैया कराए जाएंगे जिसे वे जरूरी दस्तावेज दिखाकर बैंक से प्राप्त कर सकते हैं और इसके अलावा अन्न संबंधित लाभ उन्हें सीधे ही निर्धारित राशन की दुकानों से राशन कार्ड दिखाकर प्राप्त हो जाएगा अतः इनमें से किसी के लिए भी आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।
अतः यह गरीबों के पोषण को बनाए रखने के लिए कैसा पैकेज है जो कि इस कोरोना वायरस महामारी  के एक लंबे रास्ते को तय करेगा, तथा गरीब वर्ग की मौजूदा स्थिति में घबराहट को भी नियंत्रित करेगा।

READ MORE

 

1 thought on “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना 2020”

Leave a Comment