आदर्श ग्राम योजना

आदर्श ग्राम योजना 2020 

आदर्श ग्राम योजना 2020

आदर्श ग्राम योजना 2020 ( Saansad Adarsh Gram Yojana )

भारत गांव का देश है और देश की आत्मा गांवों में बसती हैं देश आजाद होने के बाद से ही सरकार एक ग्रामीण विकास के लिए अलग-अलग तरीके से प्रयास करती रही हैं लेकिन बदलते दौर और वक्त के हिसाब से प्रधानमंत्री ने इस बार 15 अगस्त के मौके पर लाल किले की प्राचीर से एक क्रांतिकारी और बेहद अनूठी आदर्श ग्राम योजना का ऐलान किया।

सांसद आदर्श ग्राम योजना 11 अक्टूबर 2014 को लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लांच की गई थी |

  •  आदर्श ग्राम योजना इस योजना के अंतर्गत एक सांसद द्वारा मार्च 2019 तक 3 गांव को गोद लेकर आदर्श ग्राम के रूप में विकसित करना था |
  •  जिसमें से एक 2016 तक पूरा करना था इसके पश्चात 2024 तक 5 वर्षों में पांच आदर्श ग्राम विकसित करने थे अर्थात प्रतिवर्ष एक आदर्श ग्राम विकसित करना तय किया गया

Implementation of Saansad Adarsh Gram Yojana ( आदर्श ग्राम योजना 

 

  1. पीएम की योजना के पीछे सोच ये थी कि देश के हर राज्य में 5 से 10 गांव जरूर ऐसे हैं कि जिन के विषय में हम गर्व कर सकते हैं और अब उसी तरह बाकी गांव का भी विकास किया जाए।
  2.  सांसद आदर्श ग्राम योजना की कल्पना महात्मा गांधी के विजन और विचार को साथ रखकर की गई है ऐसे गांवों में शहरों जैसी सुविधाएं होंगी तो नैतिकता के साथ आधुनिकता का पाठ भी होगा आइए आपको हम यह समझाने की कोशिश करते हैं कि आखिर आदर्श ग्राम की संकल्पना है क्या और कैसे कोई गांव आदर्श गांव बन सकता है |
  3.  योजना के तहत चुने गए गांव में समुचित विकास पर फोकस होगा गांव में ढांचागत विकास के तहत स्कूल, अस्पताल,सड़क, खेल के लिए मैदान जैसी सुविधाएं होंगी तो साथ ही हर घर के साथ ही सभी सार्वजनिक स्थानों पर शौचालय का निर्माण कराया जाएगा इसके तहत हर गरीब परिवार को गरीबी के चंगुल से बाहर निकलने लायक बनाया जाएगा ।
  4. आदर्श गांव में सबके लिए शिक्षा की व्यवस्था तो होगी ही साक्षरता भी मुहैया कराई जाएगी।
  5.  शिक्षा के अलावा,इन गांवों में लोगों की बेहतर सेहत के लिए भी सारी व्यवस्थाएं होंगी।
  6.  महिलाओं की डिलीवरी से बच्चों को कुपोषण से बचाने के सारे इंतज़ाम गांव में ही होंगे ।

The objective of the Adarsh Gram Yojana includes:

आदर्श गांव में रहने वाले लोगों को कुछ खास मूल्यों को अपने जीवन में अपनाने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा ताकि वे अन्य लोगों के लिए आदर्श साबित हो सके महिलाओं के सम्मान और समानता का भाव गांव में होगा तो सामाजिक न्याय का पूरा इंतजाम होगा पर्यावरण को दुरुस्त बनाने के लिए तमाम कदम उठाए जाएंगे तो शांति व सद्भाव का ख्याल भी रखा जाएगा |
सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता और जवाबदेही जैसे सुशासन के बुनियादी मंत्र गांव में होंगे योजना का खाका खींचा गया है ताकि देश के हर इलाके में आदर्श गांव तेजी से तैयार हो सके सरकार की योजना 2024 यानी अगले 10 साल में करीब साडे 6 हजार गांव को आदर्श गांव बनाना है।
 

लोकसभा में 542 सांसद और राज्यसभा में 250 सांसद हैं जिनमें से 12 मनोनीत हैं |

  •  इस योजना के अनुसार यदि हर सांसद 3 गांव का चयन करते हैं तो इस योजना के तहत अगले 5 साल के दौरान 2379 ग्राम पंचायतों का विकास किया जा सकेगा और इसके अगले 5 साल में 3965 और ग्राम पंचायतों का विकास होगा |
  • अर्थात अगले 10 साल में कुल 6344 ग्राम पंचायतों का का विकास संभव हो सकेगा देश भर में कुल 265000 ग्राम पंचायतें हैं |

 Saansad Adarsh Gram Yojana

 योजना का क्रियान्वयन योजना 

 

योजना का क्रियान्वयन योजना का क्रियान्वयन के अंतर्गत इस योजना को मॉनिटर और कोऑर्डिनेट करने के लिए नोडल मंत्रालय ग्रामीण विकास मंत्रालय हैं इस योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तर पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक empowered  committee होती है।

इस कमेटी में जिला कलेक्टर योजना को लागू करने के लिए नोडल ऑफिसर होता है |

offical website click hear 

 योजना के मुख्य बिंदु :-

 

  • इस योजना के अंतर्गत जो गांव सांसद द्वारा आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चुना गया है उसके विकास के लिए ग्राम पंचायत आधारभूत इकाई (basic unit)होता है।
  • इस योजना के अंतर्गत जो ग्राम पंचायत होती हैं उसके लिए मैदानी क्षेत्रों में 1 ग्राम पंचायत में 3000 से 5000 जनसंख्या एवं पहाड़ी क्षेत्रों में 1000 से 3000 तक जनसंख्या होनी चाहिए।
  • इस योजना के लिए लोकसभा सांसद द्वारा अपने निर्वाचन क्षेत्र में 1 ग्राम पंचायत का चयन करना होता है।
  • इसके अलावा राज्यसभा सांसद को, जिस राज्य से वे चुने गए हैं उस राज्य के किस जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की 1 ग्राम पंचायत को चुनना होता है।
  • मनोनीत सांसद द्वारा देश के किसी भी जिले के ग्रामीण क्षेत्र की 1 ग्राम पंचायत का चयन करना होता है।
  • जिस सहरी निर्वाचन क्षेत्र में ग्राम पंचायत नहीं है वहां के सांसद अपने नजदीक के ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र से 1 ग्राम पंचायत को चुनेंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत सांसद,उस गांव के विकास के लिए आवश्यक योजना बनाने  एवं उस योजना के अनुसार उसके लिए आवश्यक संसाधनों को जुटाने में मदद करेंग।
  • इस योजना के अंतर्गत जो भी विकास योजना बनाई जाएगी उसका मुख्य उद्देश्य यह होगा कि गरीब लोगों को सक्षम बनाया जा सके ताकि वे गरीबी से बाहर निकल सके और अपना जीवन यापन कर सकें।
  • इस योजना के अंतर्गत सभी गांव की योजनाओं की प्रक्रिया का समन्वय जिला कलेक्टर द्वारा किया जाएगा।

 

सांसद आदर्श ग्राम योजना की मुख्य विशेषताएं

  1. आदर्श ग्राम योजना सामुदायिक भागीदारी पर फोकस किया गया है।
  2.  मजबूत और पारदर्शी ग्राम पंचायत द्वारा स्थानीय स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत बनाने पर बल दिया गया है।
  3. इसके लिए निर्णय लेने में महिला भागीदारी को बढ़ावा देना उचित समझा जाएगा।
  4. महिला एवं बच्चों से जुड़े विभिन्न मुद्दों के बारे में चर्चा करने के लिए महिला एवं बाल सभा आयोजित की जाएगी।
  5. ई गवर्नेंस को बढ़ावा देना।
  6. सभी तक शिक्षा पहुंच सके, युवा को साक्षरता एवं ई-साक्षरता सुनिश्चित करना ।

 

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2020

thank you

1 thought on “आदर्श ग्राम योजना 2020 ”

Leave a Comment